Global Statistics

All countries
550,526,351
Confirmed
Updated on June 29, 2022 12:03 am
All countries
523,017,428
Recovered
Updated on June 29, 2022 12:03 am
All countries
6,353,395
Deaths
Updated on June 29, 2022 12:03 am

India Statistics

India
43,436,433
Confirmed
Updated on June 29, 2022 12:03 am
India
42,797,092
Recovered
Updated on June 29, 2022 12:03 am
India
525,047
Deaths
Updated on June 29, 2022 12:03 am
spot_img

दिल्ली-हावड़ा मेन लाइन से जुड़ जाएगी पूर्वांचल की बड़ी आबादी, मॉडल बनेगा गाजीपुर में गंगा का ब्रिज

गाजीपुर. दिल्ली-हावड़ा रेलमार्ग के दिलदारनगर जंक्शन से वाराणसी-बलिया के गाजीपुर सिटी रेलवे स्टेशन को जोडऩे का काम अंतिम चरण में है, जिसकी लंबाई 14 किलोमीटर है। इसमें गंगा पर बन रहा रेल सह सड़क पुल भी है। यह प्रथम चरण का काम है, दूसरे चरण में 37 किलोमीटर रेललाइन बिछाई जाएगी।

भले ही ऐसी कोई घोषणा न हो लेकिन 2024 के आम चुनाव से पहले ताड़ीघाट से गाजीपुर सिटी के बीच ट्रेन दौड़ाने की तैयारी तेज है। रेलवे विकास निगम लि. (आरवीएनएल) के लोग दिन-रात दो पाली में काम कर रहे हैं। तत्कालीन रेल राज्यमंत्री मनोज सिन्हा के प्रयास से यह परियोजना स्वीकृत हुई थी। बीच में जमीन अधिग्रहण और उसके बाद कोरोना महामारी ने अवरोध पैदा किया। इस समय तक 70 प्रतिशत से अधिक कार्य पूरा हो चुका है। इसके पूर्ण होने से पूर्वांचल की बड़ी आबादी दिल्ली-हावड़ा मेनलाइन से जुड़ जाएगी।

31 दिसंबर 2022 तक निर्माता कंपनियां यहां का कार्य पूरा करें

‘हर हाल में 31 दिसंबर 2022 तक निर्माता कंपनियां यहां का कार्य पूरा करें। निर्माता कंपनी एसपी सिंगला (पंचकूला) पंजाब और रेलवे लाइन व स्टेशन निर्माता जीपीटी के अधिकारियों को इस बारे में निर्देशित किया गया है। – विकास चंद्रा, मुख्य परियोजना प्रबंधक, आरवीएनएल

गंगा पर पुल आदि सभी कार्य पूरे कर लिए जाएंगे

‘निर्धारित समय सीमा में रेलवे लाइन, रेलवे स्टेशन, गंगा पर पुल आदि सभी कार्य पूरे कर लिए जाएंगे।- रितेश सिंह, सहायक प्रबंधक, आरवीएनएल

माडल बनेगा गंगा का यह ब्रिज मालवाहक जलपोत को भी रास्ता

गंगा पर बनने वाला रेल सह रोड ब्रिज माडल होगा। इस पुल की विशेष तरीके से डिजाइन की गई है। अब तक के पुल के खंभों के बीच की चौड़ाई 72 मीटर ही होती है, लेकिन इस पुल की चौड़ाई 85.5 मीटर रखी गई है, ताकि वाराणसी से हल्दिया तक मालवाहक जलपोत आसानी से आवाजाही कर सके। रेलवे अधिकारियों का मानना है कि आगामी समय में अब यही पुल माडल बनेगा। इस पर एक साथ ऊपर टू लेन ट्रैफिक और नीचे ट्रेन दौड़ेगी।

नाम-रेल सह सड़क पुल
जून 2016-भारत सरकार से स्वीकृति
14 नवंबर 2016-पीएम नरेन्द्र मोदी ने रखी थी आधारशिला
31 दिसंबर 2022- कार्य पूर्ण का समय
2 रेलवे स्टेशन-नया ताड़ीघाट व गाजीपुर घाट
51 किमी-ताड़ीघाट-गाजीपुर सिटी-मऊ की लंबाई
1766 करोड़- कुल लागत
14 किमी- (प्रथम चरण)-दिलदारनगर जंक्शन से गाजीपुर सिटी व घाट तक रेलवे लाइन की लंबाई
400-अधिकारी व कर्मचारी प्रतिदिन कार्य में लगे हैं -कार्यदायी संस्था-रेलवे विकास निगम लि. (आरवीएनएल)

रेल सह रोड ब्रिज

1.2 किलोमीटर -गंगा पर ओवरब्रिज की लंबाई
14 पिलर- गंगा पर ओवरब्रिज में
16.9 मीटर-चौड़ाई
26 हजार टन-कुल वजन

पहले फेज में परियोजना के लिए अधिग्रहित जमीन

3.888 हेक्टेयर- सरकारी भूमि
35.531 हेक्टेयर – निजी भूमि
39.419 हेक्टेयर-कुल जमीन

Hot Topics

Related Articles