Global Statistics

All countries
550,575,161
Confirmed
Updated on June 29, 2022 1:04 am
All countries
523,075,507
Recovered
Updated on June 29, 2022 1:04 am
All countries
6,353,509
Deaths
Updated on June 29, 2022 1:04 am

India Statistics

India
43,436,433
Confirmed
Updated on June 29, 2022 1:04 am
India
42,797,092
Recovered
Updated on June 29, 2022 1:04 am
India
525,047
Deaths
Updated on June 29, 2022 1:04 am
spot_img

गंगा एक्सप्रेसवे पर 2024 तक कर सकते हैं सफर, इन गांवों का बदलेगा भाग्य

उत्तर प्रदेश में प्रयागराज से मेरठ के बीच 594 किलोमीटर का सफर लोग जल्द ही आसानी से पूरा कर पाएंगे. इसके लिए मेरठ से प्रयागराज तक 594 किलोमीटर लंबा गंगा एक्सप्रेसवे बनाया जा रहा है. एक्सप्रेस वे के लिए जमीन खरीदने का काम लगभग पूरा हो चुका है और निर्माण जल्द ही शुरू होने वाला है. एस प्रोजेक्ट को जल्दी पूरा करने के लिए सरकार ने 695 करोड़ 34 लाख रुपये की व्यवस्था की है. गंगा एक्सप्रेसवे एक ग्रीनफील्ड परियोजना है. इसे छह लेन का गलियारा बनाने की योजना है. जिसे जरूरत पड़ने पर 8 लेन तक बढ़ाया जा सकेगा. परियोजना की कुल लंबाई 594 किमी होगी.

एक्सप्रेसवे इन जिलों को करेगा कवर

गंगा एक्सप्रेसवे सीएम योगी की महत्वाकांक्षी योजना है. गंगा एक्सप्रेसवे का पहला चरण मेरठ जिले के बिजौली गांव को प्रयागराज जिले के जुदापुर दांडू गांव से जोड़ेगा का है. उम्मीद है कि यह परियोजना वर्ष 2024 तक पूरी हो जाएगी. गंगा एक्सप्रेसवे यूपी के कई जिलों से होकर गुजरेगा. जिसमें मेरठ, हापुड़, बुलंदशहर, अमरोहा, संभल, बदायूं, शाहजहांपुर, हरदोई, उन्नाव, रायबरेली, प्रतापगढ़ और प्रयागराज शामिल है.

एक्सप्रेसवे पर वासुसेना के विमानों की होगी आपातकालीन लैंडिंग

आपको बता दे की इस एक्सप्रेसवे पर शाहजहांपुर में वायुसेना के विमानों की आपातकालीन लैंडिंग होगी. इसके लिए हवाई पट्टी भी बनना प्रस्तावित है. एक्सप्रेसवे के लिए आस-पास के किसानों से करीब 3300 बीघे जमीन खरीद ली गई है. जिसे जिला प्रशासन ने यूपीडा को उपलब्ध करा दिया है. फिलहाल 300 बीघे और जमीन देने की प्रक्रिया चल रही है. एक्सप्रेस वे का बजट आने के बाद जल्द ही काम शुरु होगा और गंगा एक्सप्रेस वे का लोग जल्द लाभ उठा सकेंगे.

मेरठ से होकर प्रयागराज तक पहुंचेगा एक्सप्रेसवे

गंगा एक्सप्रेसवे लगभग 594 किलोमीटर लंबा होगा और वो मेरठ से होकर प्रयागराज तक पहुंचेगा. एक्सप्रेसवे रायबरेली जिले की चार तहसीलों जिसमें डलमऊ, ऊंचाहार, लालगंज और सलोन से गुजरेगा. किसानों से जमीन खरीद कर जिला प्रशासन ने उत्तर प्रदेश एक्सप्रेसवे औद्योगिक विकास प्राधिकरण (यूपीडा) उपलब्ध करा दिया है. एक्सप्रेस वे का काम थोड़ा बहुत शुरू कर दिया गया है. बाकी काम जल्द पूरा करने के लिए सरकार ने गंगा एक्सप्रेसवे को 695 करोड़ के बजट का व्यवस्था किया है.

रायबरेली के इन गांवों से निकलेगा गंगा एक्सप्रेसवे

रायबरेली की सलोन तहसील के मीरजहांपुर, कमालापुर, डोमापुर, कोडरी, लालगंज तहसील क्षेत्र के रमुवापुर दुबाई, सेमरी, चकगजराज, चकशेरशाह, लच्छीपुर, श्यामपुर, हरीपुर निहस्था, सूरजपुर, निहस्था खास, फतेह सराय, सातनपुर, रानीपुर, उगाभाद, चांदा, यूसुफपुर, डलमऊ तहसील के ऐहार, सुल्तानपुर जाला, देवगांव, रामपुर मजरे ऐहार, उमरामऊ, लोदीपुर उतरावां, जगतपुर कोटहा, रौंसी, अदीलाबाद, तेरुखा, हींगामऊ, कठगर, रसूलपुर गहरवारी, बलीपुर, कुंवरमऊ पकरी, मलपुरा, उबरनी, थुलरई, मेल्थुआ, इस्माइलमऊ, चूली, सुल्तानपुर जनौली, अलावलपुर, बेहीखोर, ऊंचाहार तहसील के शेरंदाजपुर, जलालपुर बेही, चिचौली, धोबहा, जगतपुर, लक्ष्मणगंज, बछयापुर, मरहामऊ, रसूलपुर, जिंगना, टांघन, गोबर्धनपुर, रामगढ़ टिकरिया, रोझइया भीखमशाह, इटौरा बुजुर्ग, सलारपुर, मिर्जापुर ऐहारी, डिडौली, सुमेरबाग, उमरण, कमालपुर, समसपुर पतौन आदि गांवों से एक्सप्रेसवे निकलेगा.

Hot Topics

Related Articles