Global Statistics

All countries
652,454,528
Confirmed
Updated on December 9, 2022 11:43 am
All countries
609,346,948
Recovered
Updated on December 9, 2022 11:43 am
All countries
6,654,879
Deaths
Updated on December 9, 2022 11:43 am

India Statistics

India
44,675,509
Confirmed
Updated on December 9, 2022 11:43 am
India
44,139,558
Recovered
Updated on December 9, 2022 11:43 am
India
530,653
Deaths
Updated on December 9, 2022 11:43 am
spot_img

अयोध्या में रामलला की जन्मभूमि छह लेन सड़क से जुड़ेगी, बढ़ेगी लखनऊ-गोरखपुर हाईवे की चौड़ाई

अयोध्या विश्व मानचित्र में अपना स्थान लगातार बना रहा है। रामलला का मंदिर तेज गति के संग बन रहा है। श्रद्धालुओं और धार्मिक पर्यटन के लिए अयोध्या की मांग और बढ़ जाएगी। तो अयोध्या आने में पर्यटकों को किसी भी दिक्कत का सामना न करना पड़ें इसलिए रामलला की जन्मभूमि छह लेन सड़क से जोड़ी जाएगी। इसके लिए वाया अयोध्या, लखनऊ से गोरखपुर तक हाईवे को चौड़ा किया जाएगा। अभी लखनऊ गोरखपुर हाईवे फोरलेन है। सड़क को चौड़ा करने के लिए भारतीय राष्ट्रीय राजमार्ग प्राधिकरण एनएचएआई टेंडर आमंत्रित करेगा। बताया जा रहा है कि, केंद्रीय सड़क परिवहन एवं राजमार्ग मंत्रालय ने इस परियोजना को सैद्धांतिक मंजूरी दे दी है। शीघ्र ही डीपीआर तैयार होगी।

अयोध्या में ढांचागत सुविधाएं विकसित करना जरूरी अयोध्या में राम जन्मभूमि परिसर में भव्य मंदिर का निर्माण कार्य तेजी से किया जा रहा है। दिसंबर 2023 तक रामलला का मंदिर बनकर तैयार हो जाएगा। मंदिर में जनवरी 2024 ;मकर संक्राति तक भगवान राम लला की प्रतिमा की प्राण प्रतिष्ठा हो जाने की संभावना है। तो रामलला का मंदिर का निर्माण पूरा होने पर यहां पूरे संसार से आने वाले श्रद्धालुओं की संख्या में भारी वृद्धि होना तय है। इसलिए अयोध्या में ढांचागत सुविधाएं विकसित की जा रही हैं। इस बड़ी वजह से लखनऊ अयोध्या गोरखपुर हाईवे को छह लेन तक चौड़ा करने की योजना बना ली गई है।

40 स्थान चिह्नित जहां बनेंगे फ्लाईओवर

इस हाईवे को चौड़ा करने में कुछ दिक्कतें आ सकती है। उनमें से एक है लखनऊ से अयोध्या के बीच हाईवे से सटे गांव और कस्बे। तो इसका उपाय यह निकाला गया है कि, जहां सड़क को चौड़ा करने के लिए भूमि उपलब्ध नहीं होगी, वहां फ्लाईओवर बनाए जाएंगे। लखनऊ से गोरखपुर तक हाईवे की लंबाई 269 किमी है। पूरे हाईवे पर 40 ऐसे स्थान चिह्नित किए गए हैं, जहां फ्लाईओवर बनाए जाएंगे।

मंत्रालय से सैद्धांतिक मंजूरी

एनएचएआई सूत्रों के अनुसार, केंद्रीय सड़क परिवहन एवं राजमार्ग मंत्रालय ने इस परियोजना को सैद्धांतिक मंजूरी दे दी है। शीघ्र ही डीपीआर विस्तृत प्रोजेक्ट रिपोर्ट तैयार हो जाएगी। लागत और अन्य विशिष्टियों का आकलन होने के बाद टेंडर आमंत्रित किए जाएंगे।

Hot Topics

Related Articles